50 पैसे के पेपर पर छापे 500-2000 के नोट: ऑनलाइन सीखकर नॉर्मल प्रिंटर से ही छाप डाले 2.74 करोड़ रुपए

50 पैसे के पेपर पर छापे 500-2000 के नोट– बीकानेर में एक साल से नकली नोट छापने की फैक्ट्री चल रही है, जिसने पुलिस को हैरान कर दिया है। साधारण इंकजेट प्रिंटर से कुल 2 करोड़ 74 लाख प्रिंट किए गए, कोई बड़ी मशीन नहीं।

साथ ही जिस कागज पर नोट छपे थे वह सामान्य है। यह बाजार में आसानी से उपलब्ध है। ऑनलाइन ट्रेनिंग के जरिए इन लोगों ने सॉफ्टवेयर के जरिए नकली नोट छापना सीखा। इस सॉफ्टवेयर को अब पुलिस ट्रेस कर रही है।

आईजी ओम प्रकाश पासवान के मुताबिक, सुरपुरा निवासी चंपलाल उर्फ ​​नवीन जालसाजों के गिरोह का मास्टरमाइंड है. छपाई का सारा सामान उन्हीं ने तैयार किया था।

Follow us on Gnews

Read Also- Maharashtra: सांगली में बच्चा चोरी, नर्स होने का नाटक कर एक दिन के

वृंदावन एन्क्लेव स्थित एक घर में यह काम इंकजेट प्रिंटर से किया जा रहा था। दस्तावेज़ एक इंक जेट प्रिंटर पर छपा था जिसकी कीमत केवल बीस से तीस हज़ार रुपये थी।

पुलिस ने एपसन प्रिंटर भी जब्त किए हैं। साथ ही, डीईओ पेपर (शीर्ष अधिकारियों के अर्ध-आधिकारिक पत्रों वाला पेपर) का उपयोग किया गया था। ए4 साइज के कागज की कीमत बाजार में महज पचास पैसे प्रति रुपये है। इस गिरोह ने बीकानेर से कागज खरीदने की बजाय दिल्ली से खरीदा। इस मशीन पर 500-2000 के नोट छापे जा रहे थे। पुलिस ने ऐसे कागज के पैकेट भी बरामद किए हैं।

छपाई के लिए सॉफ्टवेयर की ऑनलाइन ट्रेनिंग ली

पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि नकली नोट साफ्टवेयर के जरिए छापे जाते थे। क्या आप कृपया मुझे बता सकते हैं कि यह कौन सा सॉफ्टवेयर था? इसे कहाँ से खरीदा गया था?

पुलिस जांच कर रही है। इस सॉफ्टवेयर को संचालित करने के लिए चम्पालाल उर्फ नवीन ने ऑनलाइन प्रशिक्षण लिया। वृंदावन एन्क्लेव में गिरोह के अन्य सदस्यों को भी प्रशिक्षण दिया गया।

चेक लेकर देते थे नकली नोट

नकली नोट बनाने वाला गिरोह दूसरों से पैसे लेने में विश्वास नहीं करता था। ऐसे में चेक लेने के बाद ही नोट दिए जाते थे। हाल ही में गिरोह को साठ लाख रुपये का चेक मिला था जिसे कोलकाता भेजा जाना था। यह रकम उन्हें उनके बैंक खाते में मिली।

बैंक खाते सीज

पुलिस ने आरोपियों के सभी बैंक खाते सीज कर दिए हैं, जिससे लेनदेन करने वाले अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया जा सके। जिन लोगों ने बड़ी राशि इन खातों में दी है, उनसे भी अब पूछताछ की जाएगी। अब तक एक चेक पुलिस के हाथ लगा है।

500-2000 notes printed on 50 paise paper
500-2000 notes printed on 50 paise paper

अब तक ये गिरफ्तार

हरियाणा के करनाल में रविकांत जाखड़, नरेंद्र शर्मा, मलचंद शर्मा, राकेश शर्मा, चंपाललाल शर्मा उर्फ नवीन, पूनमचंद शर्मा को गिरफ्तार किया गया है जबकि दीपक रायगर, केसरराम और अन्य को हिरासत में लिया गया है. पुलिस टीम इनकी गिरफ्तारी के लिए करनाल पहुंच गई है।

कानून में इतनी सजा का प्रावधान

नकली नोट छापने वाले व्यक्ति को पुलिस द्वारा भारतीय दंड संहिता की धारा 489C लगाने पर सात से दस साल या आजीवन कारावास की सजा हो सकती है। इस मामले में थाने में जमानत नहीं दी जा सकती। सत्र न्यायालय के न्यायाधीश ही मामले की सुनवाई करते हैं।

Follow Us On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Telegram Channel WbseriesClick Here
 TwitterClick Here
 Website Click Here
Join

Wbseries Desk Manage By Many Expert authors. Which is expert in Entertainment Field. You Can Contact Via email- [email protected]

Previous

OYO होटल में रुकने वालों के लिए बड़ी खबर, जान लें नहीं तो उठाना पड़ सकता है भारी नुकसान …

Next

इन 3 मर्दों के साथ संबंध बना चुकी हैं सारा अली खान… लेकिन अब हैं सिंगल