Advertisment

Patanjali अब करने जा रही एक और बड़ा कारोबार- खाद उत्पादन कंपनी पतंजलि फ़ूड ने अगले 5 साल में  50000 करोड़ रुपए और 5000 करोड़ रूपये का परिचालन लाभ हासिल करने के लिए एक आक्रामक वृद्धि योजना तैयार की है।

 Fmcg कारोबार की अहम भूमिका होगी

इसमें  Fmcg कारोबार की अहम भूमिका होगी. पतंजलि फूड लिमिटेड का नाम पहले सोया इंडस्ट्रीज था. लेकिन सितंबर 2019 में कर्जे समाधान प्रतिक्रिया के तहत पतंजलि समूह ने इसका अधिग्रहण कर लिया था।

 बड़े पैमाने पर पेड़ लगाएगी  

 पतंजलि समूह के प्रमुख बाबा रामदेव ने पीटीआई भाषा के साथ बातचीत में कहा कि पतंजलि फूड अपने कारोबार को और भी ज्यादा बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर पाम के पेड़ लगाएगी. 

 50000 करोड़ का कारोबार करना है

 उन्होंने कहा है कि पतंजलि फूड ने आने वाले 5 सालों में fmcg क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी बनने के लिए दृष्टि पत्र तैयार किया है. उन्होंने कहा है कि हमारा लक्ष्य है अगले 5 सालों में कर-पूर्व आय के स्तर पर 5000 करोड़ का लाभ और 50000 करोड़ रुपए का लाभ करना है.

 पिछले वित्त वर्ष 2022 2023 में कंपनी का शुद्ध लाभ 1 साल पहले के 806.30 करोड़ रुपये से बढ़कर 886.44 करोड़ रुपये हो गया.

 इसकी कर-पूर्व एबिटा आय 1,577 करोड़ रुपये रही थी. रामदेव ने कहा कि पंचवर्षीय लक्ष्य को हासिल करने के लिए कंपनी ने काफी सारे नए उत्पादन बनाने का फैसला किया है।

 आखिरकार क्या कुछ बनाएगी कंपनी

 कंपनी का कहना है कि वह सफेद भैंस का घी, प्रीमियम बिस्कुट और कुकी, सूखे मेवे, मसाले और अन्य पौष्टिक मसालों को  अगले कुछ महीनों में लेकर आएंगे.

 उन्होंने कहा है कि  खाद उत्पादों एवं एफएमसीजी कारोबार की कुल राजस्व में हिस्सेदारी  वित्त वर्ष 2022-23 में बढ़कर 20 प्रतिशत हो गई।

 जबकि इसके 1 साल पहले यह सिर्फ 7% थी. कंपनी पाम तेल कारोबार में अपनी पकड़ बनाने के लिए बड़े पैमाने पर खेती भी कर रही है.

इसे भी पढ़े- Hero के इस बाइक के आने से Honda हुई परेशान, माइलेज के साथ लुक भी जबरदस्त

Wbseries का Whatsapp चैनल फॉलो करें

Rohit Chelani

रोहित चेलानी सोनीपत से हैं, रोहित चेलानी मीडिया क्षेत्र मे 3 साल से हैं, इनको हिन्दी...

One reply on “Patanjali अब करने जा रही एक और बड़ा कारोबार, 50,000 करोड़ का है लक्ष्य”