Helplr Telegram Channel

 फिसड्डी साबित होने लगी रेलवे , सभी ट्रेनों ने समय पर न चलने का अनोखा रेकॉर्ड बनाया 

फिसड्डी साबित होने लगी रेलवे: एक बार फिर ट्रेनें लेट चल रही हैं। इसे लेकर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव काफी खफा हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने अधिकारियों को 90 फीसदी से ज्यादा समय की पाबंदी बनाए रखने का आदेश दिया है. हालाँकि, ऐसा नहीं होता है।

भारतीय रेलवे की बात करने जैसा कुछ नहीं है। हालांकि सभी ट्रेनें ट्रैक पर नहीं हैं, लेकिन वे देरी से चल रही हैं। 1 जुलाई, 2020 तक रेलवे ने कोरोना काल में एक रिकॉर्ड तोड़ दिया। भारतीय रेलवे के इतिहास में यह पहली बार था कि उस दिन सभी ट्रेनें समय पर थीं। चूंकि पहले से चल रही ट्रेनें पटरी से उतर रही हैं,

download This app

ऐसे में रेलवे के ज्यादातर जोन समय के हिसाब से पिछड़ते जा रहे हैं. एक जोन की समयपालन दर 58.67 प्रतिशत है। हालांकि अश्विनी वैष्णव चाहते हैं कि सभी जोन में समय की पाबंदी 90 फीसदी से ज्यादा हो। इसलिए रेलवे बोर्ड ने समय की पाबंदी नहीं रखने वाले जोन को चेतावनी दी है.

रेलवे की समयपालन मंत्री के लक्ष्य से कम


रेलवे बोर्ड ने 22 से 28 अगस्त के बीच देश के सभी क्षेत्रों में समयपालन सर्वेक्षण किया। इस दौरान पूरे भारतीय रेलवे का समयपालन 84.43 प्रतिशत रहा। जबकि रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अधिकारियों को समयपालन का प्रतिशत कम से कम 90 रखने को कहा है. इससे साफ है कि इससे रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों की सांसें अटक रही हैं.

पीछे का क्षेत्र कौन है


दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (SECR) चलने वाली ट्रेनों में समय से पीछे है। बिलासपुर, छत्तीसगढ़, कंपनी का मुख्यालय है। इस रेलवे की समयपालन दर 58.67 प्रतिशत है। 100 में से 41.33 ट्रेनें देरी से चल रही हैं। इसके बाद कोंकण रेलवे की समयपालन 72.08 प्रतिशत रही। लेट ट्रेनों के मामले में ईस्ट कोस्ट रेलवे (ईसीओआर) तीसरे स्थान पर है।

Read Also: उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राजधानी  की 50 झीलों के सौंदर्यीकरण के काम का लिया जायजा

इसकी समयपालनता 74.81 प्रतिशत थी, जिसका मुख्यालय भुवनेश्वर, ओडिशा में है। उत्तर रेलवे के दिल्ली मुख्यालय से भी संबंध अच्छे नहीं हैं। समीक्षाधीन अवधि के दौरान उत्तर रेलवे की समयपालन 77.70 प्रतिशत थी। प्रयागराज मुख्यालय उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) में भी समयपालन दर 79.25 प्रतिशत है।

Follow Us On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Telegram Channel WbseriesClick Here
 TwitterClick Here
 Website Click Here
related post
Join

Hi, My Name is Lalita. I am an expert in writing News articles, I Have 2-3 Years of Experience, If You have any issues You Can Contact me Through Mail- [email protected]

Previous

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राजधानी  की 50 झीलों के सौंदर्यीकरण के काम का लिया जायजा

Next

 ग्लैमरस भोजपुरी अभिनेत्रियों में से एक हैं प्रियंका रेवड़ी, उनके फैंस निगाहें उनपर टिकी रह जाती