चांद पर मिल गई वो जगह जहां बनाई जा सकती हैं मानव बस्तियां

चांद पर मिल गई वो जगह जहां बनाई जा सकती हैं मानव बस्तियां – वैज्ञानिकों के अनुसार इंसान चांद पर रह सकता है। यहां का तापमान इतना अच्छा है कि इंसान यहां कुछ सामान्य बदलावों के साथ रह सकता है और काम कर सकता है। भविष्य में यह खोज चांद पर मानव कालोनी स्थापित करने के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती है।

इंसानों को चांद पर रहने के लिए जगह मिल गई है। तापमान के कारण मनुष्य इन गड्ढों में रह सकता है। नासा के लूनर टोही ऑर्बिटर (LRO) ने इन गड्ढों की खोज की। इन गड्ढों के अंदर का तापमान 17 डिग्री सेल्सियस होता है। एक व्यक्ति इस तापमान पर आराम से रह सकता है और काम कर सकता है। भविष्य में ऐसे गड्ढों के अंदर मानव बस्तियां स्थापित करना आसान होगा।

Read Also: Optical Illusion: भालू की तस्वीर में छिपा है उसका मालिक, 20 सेकंड में ढूंढ लिए तो कहलाएंगे जीनियस

Follow us on Gnews


भूभौतिकीय अनुसंधान पत्रों में चंद्रमा पर मानव निवास के लिए इन गड्ढों की खोज पर एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई है। ये रहने योग्य क्रेटर चंद्रमा के अन्य क्षेत्रों के क्रेटर से बिल्कुल अलग हैं। चांद पर एक दिन दो हफ्ते का होता है। यहां इतनी गर्मी हो सकती है कि धरती पर पानी उबलने लगे। ऐसी स्थिति में इन गड्ढों में रहने के लिए उपयुक्त परिस्थितियों का होना अच्छी बात है।

चंद्रमा पर शांति के सागर में रहने योग्य गड्ढे की खोज की गई है। इन गड्ढों में 328 फीट गहराई है। इन गड्ढों और चंद्रमा की सतह के बाकी हिस्सों के तापमान में बस थोड़ा सा अंतर है। यह वास्तव में कोई फर्क नहीं पड़ता। नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के वैज्ञानिक नूह पेट्रो ने कहा कि चांद के गड्ढे बेहद हैरान करने वाले हैं। तापमान स्थिर रहने पर यहां मानव कालोनियां बन सकती हैं।

नूह पेट्रो के अनुसार, लूनर पिट्स को पहली बार 2009 में खोजा गया था। यहां अलग-अलग गड्ढे हैं और ये गड्ढे अलग हैं। गड्ढे उथले हो सकते हैं, लेकिन वे लंबवत सीधे होते हैं। अगर उन्हें जाने का रास्ता मिल जाए तो वे अपने अंदर रहने की जगह बना सकते हैं। नतीजतन, यहां सौर विकिरण, बढ़ते तापमान या छोटे उल्कापिंडों के टकराने का डर नहीं है। चंद्रमा की सतह उनकी तुलना में अधिक सुरक्षित है।

Read Also: Optical Illusion: भालू की तस्वीर में छिपा है उसका मालिक, 20 सेकंड में ढूंढ लिए तो कहलाएंगे जीनियस

संभव है कि चांद पर इंसानों को इन जैसी गुफाओं में रहना पड़े। गुफाएं इंसानों के पूर्वजों का घर थीं, इसलिए ऐसा करने में कोई बुराई नहीं है। संभावना है कि सब कुछ ठीक रहा तो अगले कुछ सालों में इंसान चांद की सतह पर लौट आएंगे। वहां वह अपनी कॉलोनी बनाएंगे। एक सुरक्षित कॉलोनी बनाने का उनका सपना इन चंद्र गड्ढों से पूरा किया जा सकता है।

Follow US On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Telegram Channel WbseriesClick Here
 TwitterClick Here
 Website Click Here
v
Join

Hi, My Name is Pooja, I am expert on writing News Article, I Have 2-3 Years Experience, If You have any issue You Can Contact Through Mail- [email protected]

Previous

‘अकेली हूं, घर आ जाओ…’, दोस्त को बुलाने का वीडियो वायरल होने पर महिला गिरफ्तार!

Next

ऑनलाइन हुई मुलाकात, चैट करते-करते दो साल में प्यार चढ़ा परवान, लड़की से मिलने की बारी आई तो…